रास्तों की वीरानी और जलती धूप से डरने वाले मंजिल तक नहीं पहुंच सकते

Share on~

 

• रास्तों की वीरानी और जलती धूप से डरने वाले मंजिल तक नहीं पहुंच सकते

• वक्त एक ऐसा आवारागर्द है जो आज तक कही नहीं ठहरा।

• गुजरा हुआ वाक़ेआ गुजरता ही तो नहीं है बल्कि वह याद बनकर बार-बार गुजरता है।

• कभी-कभी ख़ुलूस खून से भी आगे निकल जाता है।

• इंसान अपनी गलतियां सही साबित करने के लिए ख्यालात और हालात छुपाने के लिए अल्फाज का सहारा लेता है।

• दूसरों के साथ ज्यादा अच्छा सुलूक वही शख्स करता है जो ज्यादा मुसीबतों में मुब्तिला रह चुका है।

• किसी का दिल मत दुखाओ क्योंकि मुआफी मांग लेने के बावजूद उसे दुख जरूर रहेगा

ठीक वैसे ही जैसे दीवार में लगी कील को निकालने से निशान बाकी रह जाता है।



Comments







 




Image unavailable

आज़ाद हिन्दुस्तां तुझ को राष्ट्रवादी मुल्ला का सलाम

अनम_इब्राहिम मैं हूँ मुसलमा हिन्दुस्तां है मेरी जां!! मेरे सज़दे तुझ पर, मेरा मुसल्ला तुझ पर...

Latest Blog
Image unavailable

खुदा के नजदीक बेहतरीन दोस्त वह है जो अपने दोस्त का खैर ख्वाह है!!

अगर तुम चाहते हो कि दिन की तरह रोशन हो जाओ तो अपनी हस्ती को अपने दोस्त के सामने जला डालो!!...

blog
Image unavailable

आंसुओं की क़ीमत

वह आंसू नायाब हैं जो अपने अलावा किसी अजनबी के दुख में बहा हो!!...

blog
Image unavailable

या मौला रात हो गई

या मौला रात हो गई दिन भर का शोर शराबा सन्नाटे में तब्दील होने लगा शहर के बादशाहों ओर बाशिंदो ने अपने अपने दरवाजे बंद कर लिये और हर शख़्स...

blog
Image unavailable

या मौला रात हो गई

या मौला रात हो गई दिन भर का शोर शराबा सन्नाटे में तब्दील होने लगा शहर के बादशाहों ओर बाशिंदो ने अपने अपने दरवाजे बंद कर लिये और हर शख़्स...

Latest Blog
Image unavailable

खौफ

दर्द ...

blog
Image unavailable

जिनके ख्वाबों की ताबीर जमाना छीन ले वह इसका इंतकाम भी ज़माने से लेते हैं

प्यार मुहब्बत हर जगह बिखरा हुआ है लेकिन सच्चा कहीं कहीं!!...

blog
Image unavailable

उफ़ ये मोहब्बत........

मुहब्बत इन्सान की आख़िरी पनाहगाह हैं। अगर उसकी छत गिर जाए तो इन्सान बिल्कुल तबाह हो जाता हैं!!!...

blog
Image unavailable

बातें बर्बादी से बचाने वाली

जिस पर नसीहत असर ना करे वह जान ले कि उसका दिल ईमान से खाली है (हज़रत अबू बकर सिद्दीक रज़ी.)...

blog
Image unavailable

इस दर्द ए दिल की दवा दर दर तलाश कर

शाम ढलते ही तोहमतों की टोकनी सर पर सवार कर ...

blog
Image unavailable

अंदर का मौसम खिज़ा की चपेट में हो तो बाहर खुली बहार की खुशबू भी जज्बों पर छाई खामोशी को तोड़ने में नाकाम रहती है।

बातें इबरत के एहतबार से............

blog
Image unavailable

मोहताज़ मज़हब और दिलेर दहशतगर्द !!!

जो लोग बुज़दिल होते हैं वो अक़्सर जात का सहारा ले दिलों में ज़हर घोलते हैं!! ...

blog
Image unavailable

शुक्रनामा शहर की शांति के शहज़ादों और सुरक्षा के शहेंशाह ख़ाकीधारियों के नाम!!!

ईद का सलाम मुल्क़ के नाम!!...

blog
Image unavailable

मरहूम अटल बिहारी वाजपाई के लिए चंद असरार अर्ज़ है......

अटल बिहारी वाजपेयी...

blog
Image unavailable

मोहताज़ मज़हब और दिलेर दहशतगर्द !!!

जो लोग बुज़दिल होते हैं वो अक़्सर जात का सहारा ले दिलों में ज़हर घोलते हैं!! ...

Latest Blog
Image unavailable

अंदर का मौसम खिज़ा की चपेट में हो तो बाहर खुली बहार की खुशबू भी जज्बों पर छाई खामोशी को तोड़ने में नाकाम रहती है।

बातें इबरत के एहतबार से............

Latest Blog
Image unavailable

रास्तों की वीरानी और जलती धूप से डरने वाले मंजिल तक नहीं पहुंच सकते

गुजरा हुआ वाक़ेआ गुजरता ही तो नहीं है बल्कि वह याद बनकर बार-बार गुजरता है।...

Latest Blog
Image unavailable

इस दर्द ए दिल की दवा दर दर तलाश कर

शाम ढलते ही तोहमतों की टोकनी सर पर सवार कर ...

Latest Blog
Image unavailable

क्या कुछ हक़ीक़त इन लफ़्ज़ों में भी नज़र आती है !

जो कुछ हम पसंद करते हैं वह हमें हासिल नहीं होता इसलिए जो हमें हासिल होता है उसे पसंद करना चाहिए!!...

blog
Image unavailable

बेरोजगार भटक भटक कर रोजी तलाश्ते हैं और निकम्मे बैठकर तक़दीर पर रोते हैं !!

खुदा हर परिंदे को रोज़ी देता है मगर घोंसले में नहीं डालता!!...

blog
Image unavailable

अंधेरे को कोसने से बेहतर है कि एक चराग़ जला लिया जाए!!!

पहाड़ी की चोटियां बनो जो एक दूसरे को देखती रहती है गड्ढे मत बनो जो एक दूसरे को नहीं देख सकते!!...

blog
Image unavailable

इबरत हासिल कर के अमल कर धोका नहीं खाएगा!!

खुश रहना एक अच्छी आदत है आप भी यह आदत डालकर देखिए ।...

blog

About Me

Anam Ibrahim
#Muslimmadadgah

Gallery

Images

Videos



Contact me

No Image मरहूम अटल बिहारी वाजपाई के लिए चंद असरार अर्ज़ है......
No Image शुक्रनामा शहर की शांति के शहज़ादों और सुरक्षा के शहेंशाह ख़ाकीधारियों के नाम!!!
No Image मोहताज़ मज़हब और दिलेर दहशतगर्द !!!
No Image अंदर का मौसम खिज़ा की चपेट में हो तो बाहर खुली बहार की खुशबू भी जज्बों पर छाई खामोशी को तोड़ने में नाकाम रहती है।
No Image रास्तों की वीरानी और जलती धूप से डरने वाले मंजिल तक नहीं पहुंच सकते
No Image इस दर्द ए दिल की दवा दर दर तलाश कर
No Image बातें बर्बादी से बचाने वाली
No Image उफ़ ये मोहब्बत........
No Image जिनके ख्वाबों की ताबीर जमाना छीन ले वह इसका इंतकाम भी ज़माने से लेते हैं
No Image खौफ
No Image क्या कुछ हक़ीक़त इन लफ़्ज़ों में भी नज़र आती है !
No Image खुदा के नजदीक बेहतरीन दोस्त वह है जो अपने दोस्त का खैर ख्वाह है!!
No Image आंसुओं की क़ीमत
No Image अंधेरे को कोसने से बेहतर है कि एक चराग़ जला लिया जाए!!!
No Image इबरत हासिल कर के अमल कर धोका नहीं खाएगा!!
No Image बेरोजगार भटक भटक कर रोजी तलाश्ते हैं और निकम्मे बैठकर तक़दीर पर रोते हैं !!
No Image या मौला रात हो गई